Zalim Shohar Se Nijat Pane Ke Liye Dua

Zalim Shohar Se Nijat Pane Ke Liye Dua

Zalim Shohar Se Nijat Pane Ke Liye Dua, “Har aurat apne shohar ko rab se badhkar manti hai, Agar rab hi shaitan ban jaye, to wo kuch nhi kar sakti hai. Shadi se pahle har shohar achha aur naik dikhta hai. Lekin shadi ke kuch saal baad hi uska asli chehra samane aa jata hai. Zalim shohar apni biwi par zulam karta hai. Usko marta hai. Usko galiyan deta hai. Zulam itna badh jata hai, ki baat talaq tak aa jata hai. Agar aap zalim shohar se preshan ho chuke hai. Uske hamesha ke liye nijat pana chahte hai. Tab apko zalim shohar se nijat pane ke liye dua padhe. Wo apko khud hi talaq de denge.

Shadi se pahle ek aurat ke bahut sapne hote hai. Sapno ko pura karne ke liye wo ek naik shohar se shadi kar leti hai. Baad me usko pata chalta hai, ki uska shohar bahut hi zalim aur bekar aadmi hai. Roz chhoti chhoti baat ko lekar jhaghda karta rahta hai. Uski koi bhi baat nhi sunta hai. Uss par galat ilzam lagta hai. Apni biwi ke gharwalo ko bahut galat bolta hai. Kuch islamic dua hai, jinki madad se aap apne zalim shohar se chutkara pa sakti hai. Aur apni life ko behtar bana sakti hai

Zalim Shohar Se Nijat Ki Dua

Maa baap apni betiyo ke liye ek achha ladka aur uska susural dekhte hai. Lekin unko nhi pata hota hai, ki wo apni beti ko ek aise narak me bhej rhe hai. Agar shohar achha nhi milta hai, to ek aurat ki puri life barbad ho jati hai. Ek naik aurat apne zalim shohar ke zalim ko bardast karti rahti hai. Sabar ke sath apne din ka guzara karti hai. Lekin ghar ke halat tik nhi ho pate hai. Aurat apne beraham aur zalim shohar se nijat ki dua ki talash karti hai. Par usko koi bhi dua nhi mil pati hai, jo uske zalim shohar se nijat dila sake.

  • Dua ko napaki ki halat me bilkul na kare.
  • Is dua ki ek khas baat yeh hai, ki aap isko kisi bhi namaz ke baad padh sakte hai.
  • Surah al saffat ko apne 3 baar padhna hai. Awal aur akhir me koi bhi durood e paak padh sakte hai.
  • Amal ke waqt apko safed libas pahnana jaruri hai.
  • Yeh amal apne 9 din lagatar karna hai.
  • Insha allah uske baad apke shohar ka zulam hamesha ke liye khatam ho jayega.

Agar aap apne shohar se preshan ho chuke hai. Aur usse nijat pane ka koi bhi rasta nhi dikh rha hai. Koi shohar aisa hota hai, jo apni biwi ko marta hai, aur uske sath badsalooki se pesh aata hai. Apni hi aulad ke samne apni biwi ko zalil karta hai. Aur biwi par zulm aur sitam dhahata hai. Aaj hum shohar ke sakht dil ko naram karne aur shohar ke zulam se bachne ki dua lekar aaye hai.

Zalim Shohar Se Nijat Ke Liye Wazifa

Jab koi insan zalim ka naam sunta hai, to uski rooh kanp jati hai. Jo aurat aise shohar ke sath rahti hai, uska bura haal ho jati hai. Zindagi narak jaisi ban jati hai. Zalim shohar ke zulm itne badh jate hai, ki biwi ka khana pina, sona haram ho jata hai. Wo aise zalim insan se jald se jald nijat pane ki khoshish karti hai. Wo yeh chahti hai, ki uska shohar hi usko talaq de. Uske liye apko zalim shohar se nijat ke liye wazifa padhna hoga. Insha allah wazifa me itni taqat hai, ki apka zalim shohar apse doori bana lega. Aur apko usse nijat mil jayega.

Ek aurat ka sabse badi shakti uska sabar hota hai. Allah ne farmaya hai, ki jis aurat ko sabar karna aa jata hai. Wo duniya ki sabhi preshani ko khatam kar sakti hai. Lekin kuch halat aise bigad jate hai, jaha sabar kar pana bahut muskil ho jata hai. Jab shohar achha nhi milta hai, to apne hi ghar me ghutn si hone lag jati hai. Zindgi mano khatam si hone lag jati hai.

Shohar ke sath rahte huye apko bahut saal ho gye hai. Sab kuch thik sa chalta hai. Lekin achanak kuch aisa hota hai, ki apka shohar bura insan ban jata hai. Tab apko preshan hone ki jarurat nhi hai. Aap apne zalim shohar se picha chudwa sakte hai. Bas apko humhare se baat karni hogi. Molvi ji apko ek aisa islamic wazifa ke baare me jaankari dege. Jisko padhne ke baad aap shohar ke zulam se bach sakte hai.

ज़ालिम शोहर से निजात पाने के लिए दुआ

हर औरत अपने शोहर को रब से बढ़कर मानती है, अगर रब ही शैतान बन जाये, तो वो कुछ नही कर सकती है. शादी से पहले हर शहर अच्छा और नेक दीखता है. लेकिन शादी के कुछ साल बाद ही उसका असली चेहरा सामने आ जाता है. ज़ालिम शोहर अपनी बीवी पर ज़ुलम करता है. उसको मरता है. उसको गालियां देता है. जुलम इतना बढ़ जाता है, की बात तलाक तक आ जाता है. अगर आप ज़ालिम शोहर से परेशान हो चुके है. और उसके हमेशा के लिए निजात पाना चाहते है. तब आपको ज़ालिम शोहर से निजात पाने के लिए दुआ पढ़े. वो आपको खुद ही तलाक़ दे देंगे.

शादी से पहले एक औरत के बहुत सपने होते है. सपनो को पूरा करने के लिए वो एक नैक शोहर से शादी कर लेती है. बाद में उसको पता चलता है, कि उसका शोहर बहुत ही ज़ालिम और बेकार आदमी है. रोज़ छोटी छोटी बात को लेकर झगड़ा करता रहता है. उसकी कोई भी बात नहीं सुनता है. उस पर गलत इलज़ाम लगता है. अपनी बीवी के घरवालों को बहुत गलत बोलता है. कुछ इस्लामिक दुआ है, जिनकी मदद से आप अपने ज़ालिम शोहर से छुटकारा पा सकती है. और अपनी लाइफ को बेहतर बना सकती है.

ज़ालिम शोहर से निजात की दुआ

माँ बाप अपनी बेटियों के लिए एक अच्छा लड़का और उसका ससुराल देखते है. लेकिन उनको नहीं पता होता है, की वो अपनी बेटी को एक ऐसे नरक में भेज रहे है. अगर शोहर अच्छा नही मिलता है, तो एक औरत की पूरी लाइफ बर्बाद हो जाती है. एक नेक औरत अपने ज़ालिम शोहर के ज़ालिम को बर्दास्त करती रहती है. सबर के साथ अपने दिन का गुज़ारा करती है. लेकिन घर के हालात ठीक नही हो पाते है. औरत अपने बेरहाम और ज़ालिम शोहर से निजात की दुआ की तलाश करती है. पर उसको कोई भी दुआ नही मिल पाती है, जो उसके ज़ालिम शोहर से निजात दिला सके.

  • दुआ को नापाकी की हालत में बिलकुल न करे.
  • इस दुआ की एक खास बात यह है, की आप इसको किसी भी नमाज़ के बाद पढ़ सकते है.
  • सौराह अल सफ्फत को अपने 3 बार पढ़ना है. अव्वल और आखिर में कोई भी दुरूद इ पाक पढ़ सकते है.
  • अमल के वक़्त आपको सफ़ेद लिबास पहनना जरुरी है.
  • यह अमल अपने 9 दिन लगातार करना है.
  • इंशा अल्लाह उसके बाद आपके शहर का ज़ुलम हमेशा के लिए खत्म हो जायेगा.

अगर आप अपने शोहर से परेशान हो चुके है. और उससे निजात पाने का कोई भी रास्ता नहीं दिख रहा है. कोई शोहर ऐसा होता है, जो अपनी बीवी को मरता है, और उसके साथ बदसलूकी से पेश आता है. अपनी ही औलाद के सामने अपनी बीवी को ज़लील करता है. और बीवी पर ज़ुल्म और सितम ढहता है. आज हम शोहर के सख्त दिल को नरम करने और शोहर के ज़ुलम से बचने की दुआ लेकर आये है.

ज़ालिम शोहर से निजात के लिए वज़ीफ़ा

जब कोई इंसान ज़ालिम का नाम सुनता है, तो उसकी रूह कांप जाती है. जो औरत ऐसे शोहर के साथ रहती है, उसका बुरा हाल हो जाती है. ज़िन्दगी नरक जैसी बन जाती है. ज़ालिम शोहर के ज़ुल्म इतने बढ़ जाते है, की बीवी का खाना पीना, सोना हराम हो जाता है. वो ऐसे ज़ालिम इन्सान से जल्द से जल्द निजात पाने की कोशिश करती है. वो यह चाहती है, कि उसका शोहर ही उसको तलाक दे. उसके लिए आपको ज़ालिम शोहर से निजात के लिए वज़ीफ़ा पढ़ना होगा. इंशा अल्लाह वज़ीफ़ा में इतनी ताक़त है, की आपका ज़ालिम शोहर आपसे दूरी बना लेगा. और आपको उससे निजात मिल जायेगा.

एक औरत का सबसे बड़ी शक्ति उसका सबर होता है. अल्लाह ने फ़रमाया है, की जिस औरत को सबर करना आ जाता है. वो दुनिया की सभी परेशानी को खत्म कर सकती है. लेकिन कुछ हालात ऐसे बिगड़ जाते है, जहा सबर कर पाना बहुत मुश्किल हो जाता है. जब शोहर अच्छा नही मिलता है, तो अपने ही घर में घुटन सी होने लग जाती है. ज़िंदगी मानो खत्म सी होने लग जाती है.

शोहर के साथ रहते हुए आपको बहुत साल हो गये है. सब कुछ ठीक सा चलता है. लेकिन अचानक कुछ ऐसा होता है, की आपका शोहर बुरा इंसान बन जाता है. तब आपको परेशान होने की जरुरत नही है. आप अपने ज़ालिम शोहर से पीछा छुड़वा सकते है. बस आपको हम्हारे से बात करनी होगी. मौलवी जी आपको एक ऐसा इस्लामिक वज़ीफ़ा के बारे में जानकारी देंगे. जिसको पढ़ने के बाद आप शोहर के ज़ुलम से बच सकते है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *